ऑपरेटिंग सिस्टम हिंदी में सीखें। आज का नया operating system

 operating system kya hai in hindi , os ka full form kya hai , what is operating system in hindi , operating system ke prakar , operating system meaning in hindi . ऑपरेटिंग सिस्टम किसी भी कंप्यूटर डिवाइस और यूजर्स के बीच में सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए बनाया गया है बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कोई यूजर किसी कंप्यूटर में अपने निर्देशों को नहीं भेज सकता और ना ही कंप्यूटर से output हासिल कर सकता है .

किसी भी computer system के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत जरूरी है ऑपरेटिंग सिस्टम एक तरह का सिस्टम सॉफ्टवेयर (system software) है जो एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (application software) को run करने या चलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसलिए ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत महत्वपूर्ण है।

ऑपरेटिंग सिस्टम हिंदी में सीखें।

आज के इस नए आर्टिकल में हम जानेंगे ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है ( operating system kya hai in hindi ) और कितने प्रकार का होता है (types of operating system in Hindi ) इसके अलावा ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण के बारे में जानेंगे कि कौन-कौन से ऑपरेटिंग सिस्टम होते हैं और किसी ऑपरेटिंग सिस्टम में कौन-कौन सा फीचर्स हमें मिलता है तो आइए जानते हैं ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है और कितने प्रकार का होता है।

image
 operating system kya hai in hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है और कितने प्रकार के होते हैं

ऑपरेटिंग सिस्टम का short form os होता है ऑपरेटिंग सिस्टम एक computer program होता है जो दूसरे कंप्यूटर प्रोग्राम को संचालित करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम किसी यूज़र और कंप्यूटर सिस्टम के बीच में मेडिएटर (mid man) का काम करता है यह हमारे दिए गए निर्देशों को कंप्यूटर के सिस्टम को मशीन भाषा में समझाता है।

किसी भी कंप्यूटर सिस्टम से कोई मशीनी भाषा या मशीन लैंग्वेज के जरिए ही वार्तालाप किया जा सकता है यानी निर्दोषों का आदान प्रदान किया जा सकता है और कंप्यूटर सिस्टम के साथ जो प्रोग्राम कम्युनिकेट करता है उसे कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम कहा जाता है। कंप्युटर की विशेषताएं हिन्दी में पढ़ें

ऑपरेटिंग सिस्टम की परिभाषा– “किसी भी कंप्यूटर यूजर और कंप्यूटर सिस्टम के बीच मध्य का काम करने वाला कंप्यूटर प्रोग्राम ऑपरेटिंग सिस्टम कहलाता है”

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर ही है जो कंप्यूटर यूजर और कंप्यूटर सिस्टम के बीच में संवादों के जरिए काम करता है।

यदि हमें कंप्यूटर को कोई दिशा निर्देश देना हो तो हमें ऑपरेटिंग सिस्टम की जरूरत होती है बिना ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर के हम किसी भी कंप्यूटर सिस्टम से कम्युनिकेट नहीं कर सकते।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम टाइप सॉफ्टवेयर होता है। मुख्यतः दो प्रकार के सॉफ्टवेयर होते हैं एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होता है दूसरा सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है।

किसी भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (application software) को चलाने के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है और इस सिस्टम सॉफ्टवेयर को ऑपरेटिंग सिस्टम कहते हैं।

यानी बिना किसी सिस्टम सॉफ्टवेयर के हम किसी कंप्यूटर में या मोबाइल डिवाइस में एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को नहीं चला सकते। ऑपरेटिंग सिस्टम का दूसरा नाम OS है.

कोई भी ऑपरेटिंग सिस्टम इसी भी कंप्यूटर यूजर्स को बेहतरीन इंटरफेस प्रोवाइड करता है जिसके बाद कोई कंप्यूटर यूजर किसी डिवाइस से चाहे कंप्यूटर हो या लैपटॉप हो आसानी से कार्य कर सकता है।

देखा जाए तो किसी भी कंप्यूटर में एक हार्डवेयर होता है और सॉफ्टवेयर होता है हार्डवेयर का मतलब यह है जो भी हार्डडिस्क हो गया कंप्यूटर का डिस्प्ले हो गया कीबोर्ड का हो गया और माउस हो गया लेकिन इन सभी को कंप्यूटर से कनेक्ट करवाना और इन सभी हार्डवेयर को कंप्यूटर के बीच निर्देशों का आदान प्रदान करवाना किसी ऑपरेटिंग सिस्टम से ही संभव है यानी एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर के हार्डवेयर से बात कर सके या निर्देश दे सके इसे ऑपरेटिंग सिस्टम कहते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (types of operating system in Hindi)-


૧. Single user operating system in Hindi – 

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम पर एक समय में कोई एक यूजर ही काम कर सकता है single user ऑपरेटिंग सिस्टम में किसी भी एक समय पर ज्यादा से ज्यादा एक ही इंसान कार्य कर सकता है जैसे MS-DOS , Palm os सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम के example हैं.

2. Multi user operating system in Hindi –

Multi user operating system पर कोई भी एक समय पर एक से अधिक लोग काम कर सकते हैं मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल होने पर किसी कंप्यूटर पर एक समय में सैकड़ों users terminal द्वारा नेटवर्क से कनेक्ट होकर या एक ही समय पर अलग-अलग computer user अलग-अलग कार्य कर सकते हैं।

जैसे network पर कई लोगों का प्रिंटर जुड़ा होता है।

Multi user operating system के उदाहरण में Linux , UNIX, windows 11, Ubuntu और Mac os हैं

3. Multitasking operating system in Hindi –

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम (Multitasking operating system) पर कोई भी यूजर एक समय पर एक साथ कई सारे प्रोग्राम को control कर सकता है मतलब यूजर chat करने के साथ-साथ web search कर सकता है माइक्रोसॉफ्ट Windows और मैकिनटोश os यह सभी मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण हैं।

4. Multi processing operating system-

मल्टिप्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम वाले computer पर कोई user1 प्रोग्राम को एक से अधिक सीपीयू पर run कर रह सकता है जैसे विंडोज nt , 2000 ,xp और unix यह सभी मल्टिप्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम के example हैं

5. Multi threading operating system in hindi-

Multi threading ऑपरेटिंग सिस्टम पर कोई भी user एक program के different part को एक साथ चलाने की सुविधा रखता है.

6. Real time operating system in Hindi –

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम को RTOS भी कहा जाता है इस ऑपरेटिंग सिस्टम पर यूजर द्वारा दिए गए इनपुट पर बहुत जल्दी प्रक्रिया करके यह ऑपरेटिंग सिस्टम आउटपुट दे देता है रियल टाइम का मतलब यह है तुरंत और real time में जो भी work होगा उस पर इस ऑपरेटिंग सिस्टम (os) के द्वारा तुरंत आउटपुट (output) दिया जाता है 

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम RTOS में मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम और ऊपर बताया गया सभी ऑपरेटिंग सिस्टम के गुण शामिल होते हैं विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम , Linux , Ubuntu, Mac os ,Android यह सभी रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम है।

जैसे माल लीजिए windows के बारे में कि विंडोज माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा develop किया गया एक real time operating system है .

और विंडो सबका इस्तेमाल Microsoft के ग्राफिक यूजर इंटरफेस ऑपरेटिंग सिस्टम ms windows के विभिन्न वर्जन के उपयोग के लिए किया गया है। ये भी पढ़िए – windows 10 operating system update कैसे करते हैं आसानी से

आप सोच रहे होंगे कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम विंडोज (windows) क्यों रखा गया एक्चुअली इस ऑपरेटिंग सिस्टम में कोई भी सॉफ्टवेयर open होने पर एक आयत वाले ग्राफिक यूजर इंटरफेस (gui) के रूप में खुलता है जोकि हमारे घर जैसे खिड़की के जैसे ही दिखता है और कंप्यूटर के interface को बेहतरीन बनाता है इसलिए इसे विंडोज नाम दिया गया विंडोज सबसे पहले dos के अंदर आता था।

इस समय की बात की जाए तो विंडोज के अभी तक कई सारे वर्जन (version) निकल चुके हैं और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे लेटेस्ट वर्जन विंडोज 11 है।

विंडो 11 सभी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे मॉडर्न ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसमें काफी बदलाव किए गए हैं और यह देखने में काफी smooth लगता है.

देखा जाए तो विंडोज 11 के पहले विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम के सभी फीचर्स आपको विंडो 11 ऑपरेटिंग सिस्टम में मिल जाएंगे विंडोज 11 ऑपरेटिंग सिस्टम को थोड़ा ज्यादा खूबसूरत बनाने पर ध्यान दिया गया है की चीजें थोड़ी सॉफ्ट दिखे जैसे कि आपको एंड्रायड ऑपरेटिंग सिस्टम में आपके स्मार्टफोन में दिखाई देता है।

operating system kya hai in hindi – latest version

तो आज हमने सीखा ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और ऑपरेटिंग सिस्टम कितने प्रकार का होता है यदि आपको इस बारे में और जानकारी चाहिए या आपके मन में कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं यदि आपको ऐसे ही जानकारी चाहिए तो आप इस वेबसाइट पर रोजाना जरूर विजिट करें 

Leave a Comment