Call Forwarding क्या है , कैसे use करें , फायदे और नुकसान

आज हम आपको call forwarding के बारे में पूरी जानकारी देंगे जैसे कि कॉल फॉरवार्डिंग क्या होता है , call forwarding कैसे use करें , call forwarding के फायदे और नुकसान क्या है , आप अपने mobile में कॉल फॉरवार्डिंग कैसे hataye और इसके off ना होने के कारण क्या है।

कॉल फॉरवार्डिंग (डाइवर्ट) आपके मोबाइल में एक feature है जो आपकी कॉल को दूसरे mobile number पर ट्रांसफर करने के लिए दिया गया होता है.
कॉल फॉरवार्डिंग (डाइवर्ट) आपके मोबाइल में एक feature है जो आपकी कॉल को दूसरे mobile number पर ट्रांसफर करने के लिए दिया गया होता है.

सबसे पहले आपको बता दें कि कॉल फॉरवार्डिंग और कॉल डाइवर्ट (Call Divert) दोनों एक ही function के नाम है , मतलब ये Function आपके मोबाइल में call setting में होता है और इसको कुछ लोग कॉल डाइवर्ट और कुछ कॉल फॉरवार्डिंग (call forwarding in hindi ) भी कहते हैं। तो चलिए जानते है क्या होता है ये कॉल फॉरवार्डिंग ?call forwarding kya hota hai ?

कॉल फॉरवार्डिंग (call forwarding) क्या होता है

” कॉल फॉरवार्डिंग (डाइवर्ट) आपके मोबाइल में एक feature है जो आपकी कॉल को दूसरे mobile number पर ट्रांसफर करने के लिए दिया गया होता है , और आप इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं। “

मतलब call forwarding करता क्या है ? आपके फ़ोन पर आनेवाली सभी वॉयस call / video call को किसी और मोबाइल नंबर पर transfer करता है यानी divert करता है , और इसलिए इसको कॉल डाइवर्ट भी कहते हैं।

तो अब आपके मन में सवाल आएगा क्या सभी कॉल ?

मेरा मतलब है call तो whatsapp पर भी होता है , फेसबुक पर भी होता है imo मैसेंजर पर भी कॉल होता है तो क्या सभी कॉल को डाइवर्ट किया जा सकता हैं ?

इसका जवाब है नहीं। आप सिर्फ Celluler Network वाली voice call को divert कर सकते हैं , दूसरा कोई भी इंटरनेट मेस्सेंजिंग एप्प्स जैसे whatsapp , imo , messenger की की जाने वाली कॉल को forward नहीं किया जा सकता है.

मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग (call forwarding) कैसे यूज़ (Use) करें ?

हाँ , तो अब बात आती है की मोबाइल में कॉल फॉरवर्ड करने का मतलब तो पता चल गया। इसको इस्तेमाल कैसे करते हैं , यानी मोबाइल में कॉल डाइवर्ट कैसे किया जाता है ?

यदि आप अपने मोबाइल पर आने वाली सभी call को forward करना चाहते हैं और आपके पास कोई और नंबर भी है तो आप इसे आसानी से एक call setting करके कर सकते हैं।

लेकिन इसके लिए एक दूसरा नंबर की जरुरत होगी जिसपे आप अपने फ़ोन की कॉल को ट्रांसफर करना चाहते हैं , और वो नंबर on होना चाहिए। मेरा मतलब है की दूसरा नंबर किसी और फोन में सेट हो तभी तो आपको इसका पता चलेगा की आपने जो call forwarding की settings की है वो सक्सेसफुल हुई है की नहीं।

Mobile Phone में कॉल फॉरवार्डिंग कैसे करें फुल जानकारी

मोबाइल में कॉल फॉरवर्ड करने के लिए आपको call forwarding की setting करनी है , आप किसी भी कंपनी के मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग कर सकते हैं। चलिए जानते हैं mi mobile में call divert कैसे करें।

सबसे पहले आप मोबाइल की main settings ओपन करें और call setting पर क्लिक करें। आप mi मोबाइल की setting में Search बार का ऑप्शन होता है , आप इसका use करके आसानी से कॉल सेटिंग पर जा सकते हैं।

यदि आपके पास JIO phone का keypad वाला फ़ोन है , तो आपको बता दें कुछ ज्यादातर कीपैड वाले फोन में call setting आपको contacts setting में मिल जाती है , तो आप वहां भी देख सकते हैं।

वैसे अब जो भी फ़ोन आ रहे हैं उनमे ये call forwarding की सेटिंग main phone सेटिंग में दिया गया होता है। तो आप इसका ध्यान रखें।

अब आप कॉल सेटिंग (Call settings) में पर क्लिक कर देना है और जब आप इस्पे क्लिक करते हैं तो आपको कई सारे ऑप्शन मिलते हैं जैसे calling accounts , sim card & mobile networks और इसके बाद आपको कॉल फॉरवार्डिंग मिलता हैं

आपको Sim card call forwarding पर क्लिक करना है जैसे ही आप कॉल फॉरवार्डिंग पर क्लिक करते हैं तो आपके मोबाइल लगे sim card दिखाई देंगे। यदि आपके फ़ोन में दो simcard है तो आपको किसी एक simcard को सेलेक्ट करता है।

मतलब आपको सिर्फ वही simcard सेलेक्ट करना है जिस के मोबाइल नंबर पर आने वाले कॉल को आप फॉरवर्ड करना चाहते हैं। तो मेरे फ़ोन में jio का सिमकार्ड है तो मैंने जिओ सेलेक्ट कर लिया है।

आप अपने हिसाब call forwarding के लिए सिम कार्ड सेलेक्ट करें।

अब जैसे ही हम सिमकार्ड पर क्लिक करते हैं तो अगला ऑप्शन आता है जहां हमे सेलेक्ट करना होता है की हम कौन सा call forward करना है

मान लीजिये आपके पास कीपैड वाला मोबाइल फ़ोन है तो आपको सिर्फ वौइस् कॉल सेलेक्ट करने का ऑप्शन आएगा। लेकिन यदि आपके पास smartphone है तो आपको voice call और Video call दो ऑप्शन दिखाई देंगे

आपको सबसे पहले voice पर क्लिक कर लेना है , जैसे ही आप voice पर क्लिक करते हैं , तो कुछ २ से ३ सेकंड में अगला ऑप्शन दिखाई देगा। इसमें आपको 4 ऑप्शन दिखाई देंगे।

इन ४ ऑप्शन में आपको

  • Always forward (Off)
  • When Busy (off)
  • When Unanswered (off)
  • When Unreachable (off)

कुछ ऐसे ऑप्शन दिखाई देंगे। इन चार ऑप्शन में आपको कोई एक सेलेक्ट करना होता है। मान लीजिये आप सिर्फ जब busy रहते हैं उस दौरान के लिए कॉल फॉरवर्ड (call forward) करना है तो आप When Busy पर क्लिक करेंगे।

मान लीजिये आप किसी को answer नहीं दे पाते हैं उस दौरान के लिए call ट्रांसफर करना चाहते हैं , तो आपको When Unanswered पर क्लिक कर देना है। और मान लीजिये कि आप सिर्फ इसलिए call transfer करना चाहते हैं , क्युकी आपके फ़ोन में नेटवर्क की समस्या है यानी

आप किसी ऐसी जगह रहते हैं जहाँ पर मोबाइल में network कम मात्रा में रहता है या नहीं रहता , और उस क्षेत्र में मोबाइल टावर [नेटवर्क] की प्रॉब्लम है , तो इस कंडीशन में यदि आप अपना कॉल डाइवर्ट (call forward) करना चाहते हैं, तो आपको When Unreachable पर क्लिक कर देना है।

लेकिन यदि आप हमेशा के लिए अपने फ़ोन पर आने वाली कॉल को किसी और नंबर के लिए डाइवर्ट करना या फॉरवर्ड करना चाहते हैं , तो आपको सबसे ऊपर Always forward पर क्लिक करें।

अब जैसे ही आप ऑलवेज फॉरवर्ड [Always Forward ] पर क्लिक करते हैं , आपको एक अलग ऑप्शन दिखाई देगा , जहां पर आपको वो मोबाइल नंबर डालना है जिस मोबाइल नंबर पर आप अपना सभी Call forward करना चाहते हैं

आपको स्मार्टफोन में contact सेलेक्ट करने का ऑप्शन भी बॉक्स के साइड में मिल जाता है जहा से आप easily कोई एक मोबाइल नंबर सेलेक्ट कर सकते हैं।

नहीं तो , कोई भी नंबर टाइप करें जिस नंबर पर call forwarding करना चाहते हैं। और इसके बाद Turn on या ok button प्रेस करें।

  • mobile में कॉल फॉरवार्डिंग नंबर update करें

आपके ok करने पर आपके पहले नंबर पर आणि वाली सभी कॉल , आपके द्वारा दिए गए दूसरे नंबर पर forward कर दिया जायेगा। आप चाहें तो दूसरे नंबर को update करके , कोई तीसरा मोबाइल नंबर भी दे सकते हैं।

या आप mobile में me call forwarding हटा भी सकते हैं। चाहें तो अपने मोबाइल में कॉल डाइवर्ट बंद (Off) कर सकते हैं। चलिए जाने है मोबाइल में call forwarding कैसे off करें

अपने मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग कैसे हटायें ?

हां , तो अपने मोबाइल में आप call forwarding deactivate करना चाहते हैं , तो कोई बात नहीं आप ये काम भी आसानी से कर सकते हैं। यानी आपको अपने मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग को off करना होगा।

ऊपर जिस तरीके से हमने call forwarding activate किया था उसी तरीके से हम फ़ोन में call forwarding update /off कर सकते हैं।

लेकिन कुछ कंडीशन में आप कॉल फॉरवार्डिंग नहीं हटा सकते। क्युकी काफी लोगों ने mobile me call forwarding kaise hataye ये भी पूछा है। तो चलिए जानते है किस स्थिति में आप call forwarding nahi हटा सकते।

  • मोबाइल में Call forwarding कब नहीं हटाया जा सकता ?

१.यदि आपके मोबाइल में नेटवर्क ना हो , या कम हो तो आप अपने मोबाइल से call forwarding नहीं हटा सकते हैं।

२.यदि आपके मोबाइल में Recharge ना हो , यानी आपने वैलिडिटी रिचार्ज ना कराया हो , तो इस कंडीशन में भी कॉल फॉरवर्ड होना बंद नहीं होगा

३.यदि कुछ सर्वर की समस्या हो तो भी , जैसे की आपके टेलीकॉम ऑपरेटर के सर्वर में error , आ गया हो , (Unknown Error) तो भी call forwarding आपके मोबाइल से off नहीं होगा

Mobile me call forwarding kaise hataye ?

मोबाइल में call forwarding हटाने के लिए ऊपर के सारे step फॉलो करके voice number तक जाएँ और आपने जिस फॉर्मेट के लिए कॉल फॉरवार्डिंग (call forwarding) activate / on किया था , वो फॉर्मेट सेलेक्ट करें।

जैसे ; मान लीजिये मैंने Always Forward पर क्लिक किया था , तो मैंने voice पर क्लिक करने के बाद Always Forward पर क्लिक करूँगा , तो एक ऑप्शन खुल के आएगा जिसमे Call forwarding को update / off / deactivate दिखाई देगा।

तो अपने मोबाइल में call divert off करने के लिए Off पर क्लिक करें और सिर्फ मोबाइल नंबर अपडेट करने के लिए update पर क्लिक करें।

यदि call forwarding off करने में कोई internal प्रॉब्लम नहीं है तो आपके मोबाइल पर कॉल फॉरवार्डिंग बंद हो जाएगी। call forwarding off ना हो तो ऊपर बताई गयी बातो का ध्यान रख के दोबारा कोशिश करने पर आपके मोबाइल से कॉल फॉरवार्डिंग हटा दी जाएगी

call forwarding use करने के फायदे और नुकसान :

Pros :

  • यदि आप अपने मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग करते हैं तो कभी कभी आपकी मोबाइल पर डाइवर्ट कॉल ड्राप भी हो सकती है।
  • यदि आपके एरिया में नेटवर्क की प्रॉब्लम हो तो कॉल फॉरवार्डिंग बेस्ट ऑप्शन है।
  • यदि आपके मोबाइल में कुछ इंटरनल समस्या हो तो इस कंडीशन में call forwarding best feature है।

Cons :

  • यदि आप अपने मोबाइल में call forwarding on करते हैं तो तुंरत नेटवर्क ना होने की स्थिति में call forwarding activate होने के बाद deactivate करने में प्रॉब्लम आ सकती है।
  • कोई आपको परेशान करने के लिए call forwarding आपके फ़ोन में लगा सकता है।
  • आप call forwarding किसी internet से चलने वाले मैसेंजर एप्प्स में use नहीं कर सकते।

तो ये थे call forwarding यूज़ करने के कुछ फायदे और कुछ नुकसान।

क्लाइमेक्स : आज हमने call forwarding क्या होती है , call forwarding से क्या फायदा होता है , कॉल फॉरवार्डिंग से क्या नुकसान होता है , मोबाइल में कॉल फॉरवार्डिंग कैसे इस्तेमाल (use) करते हैं। और एक बार कॉल फॉरवार्डिंग मोबाइल में लगा दिया तो , अपने मोबाइल से कॉल फॉरवार्डिंग कैसे हटाया जा सकता है , मोबाइल से कॉल फॉरवार्डिंग हटाने में कौन से प्रॉब्लम आ सकती है। इन सभी Points पर हमने ध्यान दिया।

तो अब आप हमे बताये कि आपकी क्या राय है इस पोस्ट पर , कहने का मतलब है कि आपको [कॉल फॉरवार्डिंग क्या है , कैसे use करें , फायदे और नुकसान] पर लिखा गया ये आर्टिकल आपको कैसा लगा , हमे निचे लिख सकते हैं और आपके मन में कोई प्रश्न हो तो , वो भी लिखे। इस पोस्ट को दूसरे लोगो के साथ सोशल मीडिया जैसे whatsapp , facebook और twitter पर शेयर करें , जिससे और लोगों को भी पता चले कि कॉल फॉरवार्डिंग क्या है और कैसे अपने फायदे के लिए इसका use कर सकते हैं। धन्यवाद

Leave a Comment