Skip to content
Home » Home » Short motivational stories in hindi for 2021

Short motivational stories in hindi for 2021

Short motivational stories in hindi में आपको आज मिलेगी ऐसी सच्ची मोटिवेशनल कहानियां ( true motivational stories ) जो आपको inspire करके आपके दिल में सफलता (Success ) की आग लगा देगी। तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसी लेटेस्ट मोटिवेशनल स्टोरी के बारे में जो आपको really inspire कर देगी :-

  • Best motivational stories
  • True Inspirational stories
  • 2021 motivational stories
  • New motivational stories
  • Business Motivational stories

Best motivational stories in hindi :

यदि आपके सीने में दिल है और उस दिल में धड़कन है , तो ये स्टोरी आपके धड़कन को बढ़ा देगी , आज की स्टोरी ही कुछ ऐसी है , यदि आप कोई भी कार्य करना चाहते हैं और वो कार्य स्टार्ट नहीं हो रहा , तो आज ये कहानी पढ़ने के बाद आप उस कार्य को जल्दी जल्दी करने का decision लेंगे।

true motivational stories
ऐसी सच्ची मोटिवेशनल कहानियां ( true stories ) जो आपको inspire करके आपके दिल में सफलता (Success ) की आग लगा देगी।

एक लड़का था (नाम – Ramji ) जो अपनी लाइफ में कुछ करना चाहता था और हर पल कुछ नए विचार अपने मन में लिए दिन रात कुछ करने की ज़िद्द लगाए बैठा था , उसके माँ बाप उससे तंग आ गए थे।

क्युकी रामजी का पढ़ाई में भी मन नहीं लगता और जब उसके माँ बाप कोई कार्य करने को कहते तो सिर्फ ये बात कह कर काम को टाल देता कि उसको जो करना है उसके मम्मी पापा उसे करने नहीं देते। लेकिन सच में रामजी ऐसा था नहीं।

असल में रामजी वही कार्य करता था जो उसके फायदे का हो , यानी जो काम उसके हिसाब से अच्छा लगता और जो काम उसके मन को भाता वही वो करता।

एक गरीब vs अमीर की बिज़नेस स्टोरी

तो आप बताइये इसमें रामजी गलत था या सही।

और हां उसको पढाई में मन नहीं लगता था ऐसा कहना उसके पापा का था, लेकिन

ऐसा बिलकुल भी नहीं था , वो पढता तो था लेकिन अपने पाठ्य पुस्तक को नहीं बल्कि आप ही के जैसे मोटिवेशन और इंस्पिरेशनल कहानियां ( motivational aur inspirational stories ) जो उसको बहुत भाती थी।

उसके मन में कुछ बड़ा , कुछ अलग करने और एक अमीर आदमी (Ek Richman ) बनने की चाहत थी , लेकीन उसके पापा सरकारी स्कुल में अध्यापक थे और उसको भी बोलते थे कि पढाई कर तुझे नौकरी दिलवा दूंगा। लेकिन रामजी को खुद नौकरी करना पसंद नहीं था।

क्या आपको पता है कि रामजी को नौकरी करना पसंद क्यों नहीं था ?

ये एक घटना है जो आपको inspire कर देगी और आपको कुछ अलग करने को सोचने पर मजबूर कर देगी।

एक तो रामजी मोटिवेशनल क्वोट (Motivational quotes ) पढ़ताऔर स्टोरीज सुन के और मोटिवेशनल वीडियो (Motivational stories wali videos ) जिससे उसके mind में एक अलग स्तर की ऊर्जा का विकास होता था जो उसको अंदर से झकझोरता

True Motivational stories in hindi :

एक गांव में 3 लड़के रहते थे जिनका नाम राम , बाला और फ़ांगड़ू था जो आपस में मित्र थे लेकिन तीनो की पैसे की स्थिति एक जैसी बिलकुल नहीं थी इनमे से जो बाला था वो सबसे धनी व्यक्ति (करोड़पति आदमी) बनना चाहता था , और एक दिन उसने कड़ोडपति बनने के लिए अपने घर से कुछ पैसे लेकर शहर चला गया।

उधर फांगड़ू अपने पापा की किराने की दुकान संभाल कर , अपने पापा के साथ पैसे कमा रहा था , लेकिन

बाला के एक दोस्त राम जो पैसे में तो तीनो दोस्तों में सबसे अमीर कह सकते हैं था , क्युकी उसकी गांव में ही कई बीघा जमीन थी और उसके पिता जमींदार थे और सबसे इंटरेस्टिंग बात कि अपने माँ बाप की एक औलाद था।

अब जिसके पास इतना पैसा हो और जिसका बाप करोड़पति (Carodpati ) हो तो उसका बेटा तो वैसे भी करोड़पति हो जायेगा , लेकिन राम करोड़पति बनेगा या नहीं ये तो बाद की बात है

अक्सर ऐसा नहीं हो ता है ऐसे बहुत कम ही लोग होते हैं जो अपने बाप के जमा किये गए पैसे को सही जगह पर इन्वेस्ट करके अपने दम पर करोड़पति बन के दिखाएं

इस मामले में मुकेश अम्बानी (Mukesh ambani ) बिलकुल सही निकले जिन्होंने अपने पिता धीरूभाई अम्बानी की सम्पति को अपने बलबूते पर खरबो की सम्पति बना दी और यदि उनको सेल्फ मेड खरबपति कहें तो कोई गलत नहीं होगा।

लेकिन बुरी संगत का बुरा नतीजा होता है और ऐसा ही हुआ राम के साथ , राम ने गलत संगति में खुद ना कुछ किया बल्कि अपने बाप की सम्पति और करोडो रुपये डुबो दिए।

इधर बाला शहर में अपना अच्छा ख़ासा बिज़नेस (Business ) बिल्ड करके खुद अपने बल पर करोड़पति (Karodpati ) बन गया था और गांव में भी अपना बिज़नेस लाना चाहता था। इसके लिए उसने अपने दोस्त राम से बोला –

New Motivational Business Stories ( बिज़नेस स्टोरीज )

बाला : राम मैं सोच रहा हूँ कि क्यों ना शहर का बिज़नेस अपने गांव में लाया जाये और तेरे पास जो जमीन है वो किराये पर हमे देना और उसके बदले हमसे किराये लेना।

राम : देख भाई हम दोनों मिलके बिज़नेस करेंगे।

बाला : हां हां बिलकुल मैं तो यही चाहता हूँ कह कर चला गया। उधर राम के मन में कुछ और ही चल रहा था।

राम के पास तो कुछ था ही नहीं , बाला को लगता की राम तो करोड़पति की औलाद है तो पैसे कि कोई प्रॉब्लम नहीं होगी और बिज़नेस स्टार्ट करने में भी दिक्क्त नहीं होगी।

पर ऐसा हुआ नहीं। राम करोड़पति पहले था और अब वो बिलकुल भी करोड़पति नहीं था इसके साथ ही उसके बिहेवियर में भी बदलाव आ गया था , ये बात बाला को मालूम ही नहीं थी।

एक दिन बाला ने राम को बोला कि चल भाई मेरे पास मस्त बिज़नेस प्लान है , अब बिज़नेस स्टार्ट करने का समय आ गया है। राम ने कॉन्ट्रैक्ट पर सिग्नेचर करने से पहले बोला मैं बिज़नेस करने के लिए पैसे दूंगा पर मेरी एक शर्त है।

बाला के पास बिज़नेस करने के लिए पैसे तो थे लेकिन वो कुछ बड़ा करना चाहता था , तो उसे लगा कि राम के साथ बिज़नेस करने में मजा आएगा और दोनों पैसे तो लगा रहे हैं तो दोनों को फायदा होगा। ये सोच कर बाला ने कहा बोलो राम क्या शर्त है ?

राम ने बोला कि मैं तुझे बिज़नेस के लिए पैसे देने को तैयार हु लेकिन बिज़नेस मेरे नाम से होना चाहिए और मुझे सिर्फ 20 % मुनाफा चाहिए।

बाला कुछ सोच कर कहा:- मैं तो तुझे 50 % profits देने वाला था लेकिन मुझे ये शर्त मंजूर है। राम ने बोला मुझे सिर्फ 20 % ही चाहिए।

इधर बाला बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरा किया , और बिज़नेस राम के नाम पर भी शुरू किया।

एक्चुअली बाला सोच रहा था की बिज़नेस में राम का भरपूर सपोर्ट मिलेगा भले ही उसका नाम रहे , बिज़नेस में जो मुनाफा होगा उसमे तो 80 % तो मेरा ही होगा।

उधर राम के मन में कुछ wrong चीजे चल रहीं थी जो बाला को खबर नहीं थी