Skip to content
Home » Home » गेस्ट पोस्ट (Guest Post) क्या है और कैसे लिखा जाता है | Kya hai

गेस्ट पोस्ट (Guest Post) क्या है और कैसे लिखा जाता है | Kya hai

“आज हम बात करेंगे Guest Post के बारे में जैसे कि गेस्ट पोस्ट क्या होता है और गेस्ट पोस्ट कैसे लिखा जाता है ,या फिर गेस्ट पोस्ट लिखने से क्या फायदा होता है “

गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदे
guest post by megahindi

तो सबसे पहले हम जानते है गेस्ट पोस्ट क्या है (what is guest post) ?

जैसा कि नाम से भी आप ये जान सकते है guest post yaani किसी ब्लॉग पर किसी दूसरे गेस्ट के द्वारा लिखा गया कोई पोस्ट होता है उसी को गेस्ट पोस्ट कहते है। यानी होता क्या है , कि जिसका कोई ब्लॉग पहले से है और उसने गेस्ट पोस्ट को लिखना allow किया है , तो आप उसके ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिख सकते है।

अब बात आती है , कि चलो ये तो समझ में आ गया की गेस्ट पोस्ट क्या है लेकिन हम गेस्ट पोस्ट लिखें ही क्यों , या हमे गेस्ट पोस्ट लिखना क्यों चाहिए।

तो गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदे है यहां –

जैसे की आपकी writing skill improve होती है, और इसके लिखने से आपको और भी फायदा होता है जैसे मान लीजिये आपका कोई ब्लॉग पहले से है या फिर आपने अभी अभी अपना ब्लॉग शुरू किया है , तो इससे आपके ब्लॉग पर बैकलिंक (backlink) बनेगा जिससे आपके ब्लॉग की रैंकिंग (Ranking) बढ़ेगी।

यहाँ पर बैकलिंक (backlink) के बारे में बताये तो , हमारे ब्लॉग के लिए या किसी के भी ब्लॉग के लिए बैकलिंक जरुरी होता है , और या कहे तो बिना backlink के कोई ब्लॉग रैंक नहीं होता या दूसरे शब्दों में कहें तो बिना बैकलिंक बनाये आप ब्लॉगिंग में सक्सेस नहीं पा सकते।

एक सक्सेसफुल ब्लॉगर कैसे बने जरूर जानिये

ब्लॉग में क्या और कैसे लिखें ( महत्वपूर्ण बातें )

आप जब एक ब्लॉग शुरू करोगे तो धीरे धीरे सारे स्टेप आपको पता होते रहेंगे। ये सारा ब्लॉग और वेबसाइट लिंको से चलते है छोटे लिंक बड़े लिंक या फिर यू कहें तो लिंकों का मायाजाल है , लेकिन सामने से ये नहीं दीखता, ये सब पीछे से काम करते है। तो हम कहाँ थे गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदों के बारे में बात कर रहे थे।

ये तो हुई की एक छोटा ब्लॉगर या beginner blogger के फायदे की बात , लेकिन वहीं यदि वो कोई बड़ा ब्लॉगर है तो उसके लिए गेस्ट पोस्ट लिखने के और भी ज्यादा फायदे है। जैसे –

जैसे कि वो आपके ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिखने के भी पैसे है इसका मतलब की एक तो उसे आपके ब्लॉग से बैकलिंक तो मिला ही लेकिन अब उसको गेस्ट पोस्ट लिखने के पैसे भी मिल रहे है ,और लोग ये करते भी हैं। तो ये रहा गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदे।

लेकिन इसके नुकसान भी है यदि कोई स्पैम वेबसाइट से आपके ब्लॉग पर गलत कमेंट या किसी और तरीके से लिंक बना तो इसके bad यानी बुरे प्रभाव भी हो सकते है।

तो क्या होगा ?

जब किसी अच्छी वेबसाइट से अच्छे बैकलिंक मिलते थे तो क्या होता था , हमारे ब्लॉग की सर्च इंजन रैंकिंग बेहतर होती थी लेकिन वही स्पैम वेबसाइट से बैकलिंक बना तो क्या होगा आपके ब्लॉग की सर्च इंजन में रैंकिंग गिरने लगेगी या यु कहे तो आपके ब्लॉग की रैंकिंग (Ranking ) low होने लगेगी।

लेकिन अब बात आती है कि कैसे पता करें की कौन से वेबसाइट या ब्लॉग से अच्छी बैकलिंक मिल रही है , ये एक बड़ा प्रश्न है।

इसके लिए आपको कुछ जरुरी एक्टिविटी पर ध्यान देना होगा जैसे कि आपके ब्लॉग पर कौन बंदा कमेंट कर और क्या कमेंट कर रहा है , क्युकी कमेंट करने से भी बैकलिंक बनती है। और ऐसे कई सारी बाते है , जिसे आपको जानने की जरुरत होगी। तो यहाँ हमने गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदे और नुकसान के बारे में भी जान लिया।

Guest post लिखने का process क्या होता है –

किसी ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिखने के लिए क्या करना होगा ?

एक बात तो ये हो गयी कि किसी ब्लॉग का ओनर अपने ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट के लिए जगह दे यानी हमें option दे की हम वहा जाकर गेस्ट पोस्ट लिख सके।

और दूसरा ये कि समझे कोई request करता है कि हम उसके ब्लॉग के लिए गेस्ट पोस्ट लिखे। दोनों ही कंडीशन में हमें खुद पता लगाना होगा कि कौन सा ब्लॉग हमे गेस्ट पोस्ट लिखने की सुविधा है जिससे दोनों का फायदा हो।

तो आज समने सीखा गेस्ट पोस्ट क्या है (Guest post kya hai) , गेस्ट पोस्ट लिखने के फायदे क्या है (guest post likhne ke fayde kya hai), और कौन हमें गेस्ट पोस्ट लिखने की सुविधा दे सकता है , आज के लिए इतना ही।

आप इस पोस्ट पर अपनी राय दे सकते है , आपके पास कोई प्रश्न हो तो पूछ सकते है निचे comment box में और ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों शेयर कर सकते है, धन्यवाद