Skip to content
Home » Home » Phishing Kya Hota hai – What is Phishing in hindi (सेफ्टी टिप्स)

Phishing Kya Hota hai – What is Phishing in hindi (सेफ्टी टिप्स)

Phishing क्या होता है, (Phishing Kya Hota hai) और  फिशिंग से कैसे बचे ? आज हम आपको फिशिंग विषय के बारे में बताने जा रहे है कि Phishing क्या होता है हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें उन देशों के नाम बताये गए है जिन पर फिशिंग अटैक सबसे ज्यादा हो रहा है.एक रिपोर्ट के अनुसार भारत सबसे ज्यादा फिशिंग अटैक के मामले में तीसरे स्थान पर मौजूद है । इस सूची में पहले स्थान पर USA और दूसरे स्थान पर Russia है. तो ये फिशिंग क्या है , और  Phishingसे हम कैसे बच सकते हैं चलिए इस आर्टिकल मे जानते हैं।

Phishing Kya Hota hai in hindi
Phishing क्या होता है ? | What is Phishing in hindi in 2021

आपको बता दें की पिछले कुछ वर्षो से China से भारत के online websites और online user के data को हैक करने के लिए कई बार Phishing attack के साथ Website Hacking और Cyber Crime जैसे मामले सामने आये हैं। किसी भी तरह की साइबर क्राइम से यूजर की प्राइवेसी खतरे में होती है। यदि आप एक ऑनलाइन यूजर है , तो आपको निचे बताई गयी जानकारी Phishing मे क्या होता क्या है और Phishing attack किसलिए की जाती है , को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

What is Phishing in Computer Science in hindi

फिशिंग क्या होता है ? और इससे कैसे बचें

यहां पर Phishing किसी समुद्र की मछली को पकड़ने की नहीं हो रही है , बल्कि online user को पकड़ने के लिए Phishing इस्तेमाल होती है हालकि ये शब्द सुनने मे Fish यानि मछली के लिए use करने मे आता हो , ये समझ मे आता है , लेकिन मछली पकड़ने को English में Fishing कहते हैं । यदि इस Fish+ing से F हटाकर Ph लगाते है।

तो Phish+ing बन जाता है जिसका हिंदी में (Hindi me) अर्थ (Meaning) – online frod , धोखा , चीटिंग , जालसाजी , साइबर अटैक (Cyber Attack)और साइबर क्राइम (Cyber Crime) होता है , Phishing में हैकर कोई online यूजर , कस्टमर को मछली को पकड़ने जैसा ही तरीका अपनाते है ।

अब बात आती है कि Phishing मे क्या होता क्या है कि जो Phishing attack करने वाले लोग होते हैं , वो spam type Email भेजते है , और वो Email कैसा होता है ? जैसे मान लीजिये आपके पास कोई ईमेल आता है ।

वह Email ऐसा लगता है कि वह आपको किसी Trusted कंपनी , Celebraty और Country जैसे – गूगल (Google),अमेरिका (usa), फेसबुक,अमिताभ बच्चन या कोई बड़ी बैंक ने भेजा है। इस ईमेल (Email ) का डिजाइन आपको पसंद आने लगता है ।

इस Email को देखकर आपको ऐसा लगता है कि ये Email आपके काम आने वाला है और आप उस ईमेल पर एक्शन ले लेते हैं। और इनका काम शुरू हो जाता है । इन टाइप के ईमेल पर कुछ ऐसा लिखा होता है जो आपको पसंद आने ही लगता है ।

जैसे ईमेल पर लिखा होता है, कि आपको कोई New Offer मिला है, या सिक्यूरिटी अपडेट , या कोई लड़की किसी देश मे फंस गयी है , और आपको फिर से लॉग इन करना ही पड़ता है ।

यदि आप इस लिंक पर क्लिक करते है , तो ये proccessing करने लगता है और आपको ऐसा लगता है जैसे आपको फिर से वेरीफाई (Verify) किया जा रहा हो ।

ऐसा कुछ ईमेल आने के बाद कोई भी नार्मल यूजर क्या करता है ? वो इन फिशिंग ईमेल (Phishing Email) को Positive ले लेता है , और Email पर दिए लिंक पर क्लिक करने के बाद वह Fake और नकली Website पर पहुँच जाता है ।

इसके बाद वह उस Fake वेबसाइट (Website) पर लॉग इन करने की कोशिश करता है , यहां पर वह लॉग नहीं होता , लेकिन उसने जो Username और पासवर्ड डाला था , वह जानकारी अटैकर्स या हैकर्स के पास पहुँच जाता है। और इस तरह कोई भी Online User Phishing Attack का शिकार हो जाता है।

How to Secure from Phishing in hindi Phishing से बचने के टिप्स और उपाय २०२१

अब Phishing क्या होता है ये तो आप जान गए लेकिन अब Phishing से या Phising attack से कैसे बचना है ये भी जान गए तो आप कभी फ्यूचर मे इस Online Phishing (फिशिंग) मे नहीं फसएंगे ।

यदि आप नीचे दी गई जानकारी और कुछ विशेष बातों का ध्यान रखते है तो । तो चलिए जानते हैं , Phishing से बचने का सबसे आसान तरीका कौन सा है ? सबसे पहली बात आपको किसी भी अनजाने ईमेल लिंक पर क्लिक नहीं करना है।

यदि आप अनजाने लिंक (Unknown Link) पर क्लिक करने से खुद को रोक लेते हैं , तो आप ऐसी किसी भी तरह कि हैकिंग से बच सकते हैं । वैसे Google का Gmail Email हमारी protecting के लिए इस टाइप कि Gmail Email Inbox से Spam Folder मे डाल देता है , लेकिन कभी कभार ये इनबॉक्स मे ही रहता है ।

अब आप सोचते होंगे कि मेरा username और password लेकर कोई क्या कर सकता है ? लेकिन दोस्तों ये जो आज का Username और paasword है , इसमे आपकी कितनी जानकारी होती है , आपको पता भी नहीं चलता ।

किसी भी यूजरनाम और पासवर्ड में आपकी गोपनीय जानकारी होती है , और इस जानकारी को किसी के अनुरोध करने पर किसी को भी नहीं बतानी चाहिए यहा तक कि यदि खुद Gmail या Google कि साइड से एसी मेल आती है , तो भी क्योंकि इन यूजरनाम और पासवर्ड (Password ) में आपकी कई महत्वपूर्ण जानकारी होती हैं।

ज्यादातर लोग अपना user name और password बनाते समय अपनी personal जानकारी ही देते है , जो कि गलत है , कभी भी अपने username और password मे अपने नाम और mobile number ना ऐड करें और जब भी आप किसी वेबसाइट में जाए तो इस वेबसाईट के बारे मे पूरी जानकारी लें।

और कम से कम एक बार उस Website के URL यानि Web Address को जरुर चेक कर लीजिए ताकि आप इस तरह कि Phishing Attack और Cyber Crime कि चपेट से बच सकें । आने वाले अगले एपिसोड मे मैं आपको किसी भी fake website से कैसे बचें ? इस टॉपिक पर पोस्ट लिखने वाला हूँ , तो ऐसी ही शानदार आर्टिकल के लिए विज़िट करें megahindi.com पर ।

Conclusion – Phishing Kya hota hai Hindi me Jaanakari

समरी : आज के आर्टिकल से फिशिंग क्या होता है? (Phishing Kya hota hai),और फिशिंग अटैक से कैसे बचे (How to Secure from Phishing in hindi) इस बारे मे सम्पूर्ण जानकारी ले ली है और हमने ये भी जाना कि Phising attack इन्टरनेट की दुनिया में साइबर क्राइम और अपराध जाना जाता है।

आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए कि फिशिंग (Phishing) का इस्तेमाल किसी भी उपभोक्ता की गोपनीय जानकारी और व्यक्तिगत पहचान (Personal Identity) जैसे यूजरनेम और पासवर्ड , Bank Account की जानकारी , क्रेडिट कार्ड का नंबर , क्रेडिट कार्ड CVV नंबर , ऑनलाइन नेट बैंकिंग के यूजरआईडी और पासवर्ड सोशल मीडिया अकाउंट के यूजरनेम और पासवर्ड चोरी करने में और ऑनलाइन यूजर की गोपनीय जानकारी चुराने के लिए किया जाता है।