Skip to content
Home » Home » Pegasus जैसे टेक्नोलॉजी से लाखों लोग सुरक्षित होते हैं : NSO

Pegasus जैसे टेक्नोलॉजी से लाखों लोग सुरक्षित होते हैं : NSO

Pegasus News : जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस को लेकर कई सारे विवाद अभी भी ट्रेंड में हैं , इस समय इजराइल की cyber security वाली कंपनी NSO Group ने अपना बचाव किया है और कहा है कि ख़ुफ़िया और कानून लागू करने वाले एजेंसी को टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराने के कारण लाखो लोग इस दुनिया में चैन की नींद लेते हैं और इसी technology की बदौलत सुरक्षित होते हैं। ये भी पढ़े – Pegasus spyware क्या है और कैसे आपके व्हाट्सप्प को हैक कर सकता है जानिये पूरी जानकारी

इसरायली (Israeli) कंपनी ने ये भी कह रहा है की हम तकनीक (Technology) का संचालन नहीं करते हैं और ना ही उनके पास ग्राहकों द्वारा डाटा इकठ्ठे किये जाते हैं , कंपनी ने ये भी कहा की भारत ही नहीं बल्कि कई और देश में पत्रकारों , नेताओ (Leaders), कार्यकर्ताओ और अन्य लोगो की निगरानी के लिए पेगासस software का कथित यूज़ ने गोपनीयता से रिलेटेड मुद्दों पर चिंता का जन्म दे रहा है। इंटरनेशनल मीडिया संघ के मुताबिक इसरायली कंपनी द्वारा सरकारों को बेचे गए इस पेगासस spyware software के जरिये नेताओ और पत्रकारों समेत लोगो को निशाना बनाया जा रहा है। ये भी पढ़े – Google ने क्यों लगाया गूगल मीट में वीडियो कॉल करने पर टाइम लिमिट

NSO के एक प्रवक्ता ने एक दावा किया कि पेगासस और ऐसी अन्य तकनीक से दुनिया में लाखो और करोडो लोग रात में अच्छे से सो पाते हैं और सड़को पर सुरक्षित तरीके से चल पाते हैं। इस तरह की टेक्नोलॉजी से ख़ुफ़िया और कानून को लगाने और लागू करने वाली एजेंसिया एन्क्रिप्टेड ऐप के द्वारा छिपाई गयी सूचनाओं का पता लगाकर , आतंकवाद , आतंकवादी घटनाओ और अपराध को रोकने में सफल हो पाती हैं ये भी पढ़िए – Youtube चैनल का नाम बदलने का आसान तरीका और टिप्स

कंपनी के हवाले से ये भी कहा गया कि दुनिया के कई अन्य साइबर (Cyber) ख़ुफ़िया कंपनीज के साथ NSO सरकारों को Cyber security वाले उपकरण मुहैया करती है , क्युकी कानून लागू कराने वाली एजेंसियों के पास सॉलिड प्रणाली नहीं होती और मेस्सजिंग और सोशल मीडिया पर सस्पीशियस एक्टिविटी की निगरानी के लिए दूसरा समाधान नहीं होता है।

Pegasus जैसे टेक्नोलॉजी से लाखों लोग सुरक्षित होते हैं : NSO
Pegasus Spyware जैसे टेक्नोलॉजी से लाखों लोग सुरक्षित होते हैं : NSO

दुनिया में हुए इस जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस पर हो रहे विवाद पर प्रवक्ता ने कहा की NSO तकनीक का संचालन कभी नहीं करती और ना ही हमारे पास कोई डाटा को देखने की सुविधा होती है , प्रवक्ता ने ये भी कहा की हम एक सुरक्षित दुनिया बनाने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास कर रहें हैं।

Pegasus Spyware Software के गलत इस्तेमाल पर पहली बार भारत देश में ये मुद्दा सामने आया और इसके बाद NSO ने एक लिखित जवाब में कहा था कि अनुबंध के तहत गंभीर अपराध और आतंकवादी गतिविधि को रोकने के सिवा किसी और मामले में इस्तेमाल करने के लिए हमारे product प्रतिबंधित यानी निषेध हैं।

सॉफ्टवेयर कंपनी ने कहा की अगर Spyware software के गलत इस्तेमाल या दुरूपयोग होने के बारे में हमे पता चलता है तो हम कार्रवाई करते हैं , ये सिर्फ मानव आधिकारो की सुरक्षा के लिए बनाया गया तकनीक है। और इसमें जीवन का अधिकार , अखंडता और सुरक्षा शामिल है , इसके लिए हमने व्यापार और मानवाधिकार पर संयुक्त राष्ट्र के नियमो और सिद्धांतो को मानने की मांग भी की है , ताकि हमारे product सभी देशो के नागरिकों के सभी मौलिक मानवाधिकारों को सम्मान दे और ये हमारा तरीका आज भी बरकरार है। ये भी पढ़िए – Google से पैसे कैसे कमाए जाते हैं जानिये पूरी जानकारी

Bharat (भारत) को इस Software की बिक्री किये जाने की पुस्टि और खंडन किये बगैर कंपनी ने ये भी कहा की हमारे उत्पादों को सरकारी ख़ुफ़िया एंड कानून जारी या लागु करने वाली एजेंसियों को लाइसेंस पर ही दिया जाता है , और इसका एकमात्र उद्देश्य आतंकवाद , आतंकी गतिविधि और गंभीर अपराध को रोकना तथा जांच करना ही है। इस नए विवाद पर इजराइल ने NSO ग्रुप के निगरानी software के गलत इस्तेमाल और दुरूपयोग वाले आरोप की समीक्षा करने के लिए एक समिति का गठन किया है और लाइसेंस देने वाले पुरे मामले पर समीक्षा करने का संकेत दिया है।

ऐसे टेक्नॉलजी न्यूज , और टेक आर्टिकल के लिए आप हमारे Facebook Page को लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें , या डायरेक्ट Megahindi.Com पर रोजाना विस्तार से जानकारी पढ़ें , जिनमे आपको टेक न्यूज , ब्लॉगिंग , यूट्यूब और इंटरनेट टिप्स के बारे मे जानकारी दी जाती है